435c7b42c9b84bdd8b9f27864fb85559-0001_edited.jpg

Haal E Zindagi

Mental Health Support Group by Heal My Heart

हम ऐसी ज़िन्दगी जी रहे है जिसमे तनाव (ज़ोर/दबाव) हमारी ज़िन्दगी का एक हिस्सा बन गया है| हम अपनी बात किसी से खुलकर कह नहीं पाते जिसकी वजह से घबराहट, डर, चिंता, मन में बैचेनी, ज्यादा सोचना, अपने आप को अकेला महसूस करना, सोचते-सोचते रातो को देर तक जागना हमारी जिंदगी का हिस्सा कब बन जाते है पता ही नहीं चलता|


हम अवसाद (डिप्रेशन) का शिकार हो जाते है| अपने मन पर दबाव महसूस करते है क्यूंकि कहीं न कहीं हमें कोई समझने के लिए नहीं है, हमें कोई सुनने के लिए नहीं है, हमें लगता भी है की अगर हमने अपने मन की बातें दुसरो को बता भी दी तो वो हमारे बारे में क्या सोचेंगे | हम अपने आपको अकेला कर लेते है |


हमें एक ऐसी जगह चाहिए, ऐसे लोग चाहिए जो हमें सुन सके हमें समझ सके. इसी के मद्देनज़र हमने हाल-ए -ज़िन्दगी नाम से ग्रुप (मज़मा/समुह ) शुरू किया है जहाँ पर लोग खुलकर अपनी बात कह सकते है.


परेशानियाँ हम सब की ज़िन्दगी में है, जिनकी वजह से हमारा मन काफी परेशान हो जाता है, ज़रूरत है बस अपना हाल-ए-ज़िन्दगी बयां करने की|

मेन्टल हेल्थ सपोर्ट ग्रुप ऑनलाइन कार्यरत है. हर शनिवार और रविवार सुबह 10 बजे से 11 बजे तक. आज ही अपनी उपस्तिथि पंजीकृत करें
जल्द ही हम हाल ए जिंदगी मानसिक स्वास्थ्य  समर्थक समूह  को ऑफलाइन शुरू करेंगे। 

 
Therapy Office

Submit your queries about Haal E Zindagi

Thanks for submitting!